उम्मीद से ज्यादा खराब रहा बिहार बोर्ड की 12वीं कक्षा का रिजल्ट, 64 प्रतिशत छात्र असफल

0
202

पटना। बिहार स्कूल एक्जामिनेशन बोर्ड ने मंगलवार को 12 वीं कक्षा के साइंस, आर्ट्स, वाणिज्य संकाय का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है। पूरे देश में यह अब तक का सबसे खराब रिजल्ट है। इस बार तीनों संकाय के रिजल्ट में गिरावट दर्ज की गई है। साइंस और आर्ट्स में सबसे कम रिजल्ट रहा।

साइंस में सिर्फ 30 प्रतिशत छात्र तो आर्ट्स में 37 प्रतिशत छात्र और वाणिज्य में 73.76 प्रतिशत छात्र ही पास हो सके हैं जबकि पिछले साल साइंस में 66.16 फीसदी, आर्ट्स में 55.62 फीसदी और कॉमर्स में 79.37 फीसदी छात्र सफल हुए थे।
बिहार बोर्ड में कुल मिलाकर 64 प्रतिशत छात्र फेल हो गए हैं, जिसमें 70 फीसदी साइंस स्ट्रीम, 63 प्रतिशत आर्ट्स और 26 फीसदी कॉमर्स के स्टूडेंट शामिल हैं।

आपको बता दें कि इस वर्ष इस परीक्षा में 12. 61 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इस वर्ष तीनों संकाय के परिणामों में पिछले साल के मुकाबले भारी गिरावट दर्ज हुई है। सक्सेस रेट बहुत गिर गया जिस पर एक बहस छिड़ गई है कि आखिर इसके पीछे का कारण क्या है? जानकारों का मानना है कि पिछले साल सामने आया ‘टॉपर्स स्कैम’ इस रिजल्ट की मुख्य वजह है इसलिए ही बिहार बोर्ड ने इस बार काफी सख्ती से कॉपियां चेक की हैं। बिहार स्कूमल एग्जाॉमिनेशन बोर्ड ने भी माना है कि इस बार सक्सेलस रेट बहुत ज्यादा गिर गया है।

आपको बता दें कि इस साल पटना कॉमर्स कॉलेज के प्रियांशू जायसवाल कॉमर्स संकाय में टॉपर हैं, उन्हें 500 में से 408 अंक प्राप्त हुआ है। वहीं, सिमुलतला स्कूल की खुशबू कुमारी साईंस टॉपर बनीं हैं। खुशबू को 500 में से 431 अंक मिले हैं जबकि समस्तीपुर RMS उत्क्रमित स्कूल के गणेश कुमार आर्ट्स में अव्वल रहे हैं। गणेश को 500 में से 413 अंक प्राप्त हुए हैं।