कैसा रहेगा इस साल मानूसन? आईएमडी, स्काइमेट का अनुमान जुदा-जुदा

0
3

नई दिल्ली : मौसम विभाग की माने तो इस साल मानसून तकरीबन सामान्य रहेगा, लेकिन निजी पूर्वानुमानकर्ता स्काइमेट का अनुमान है कि मानसून सामान्य से कमजोर रहेगा।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को जारी अपने अनुमान में कहा कि इस साल मानसून लगभग सामान्य रहेगा और देशभर में मानसून सीजन के दौरान 96 फीसदी बारिश हो सकती है।

उधर, स्काइमेट का दावा है कि मानसून सामान्य से कमजोर रहेगा और देश में इस दौरान 93 फीसदी बारिश हो सकती है।

स्काइमेट वेदर में मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन विभाग के वाइस प्रेसिडेंट महेश पालावत ने आईएएनएस को बताया कि जून और जुलाई महीने में अलनीनो का प्रभाव ज्यादा रहेगा, लेकिन अगस्त और सितंबर में यह प्रभाव कम हो जाएगा।

उन्होंने कहा, स्काइमेट का अनुमान है कि मानसून सामान्य से कम रहेगा और जून से सितंबर के दौरान 887 मिलीमीटर की लंबी अवधि औसत (एलपीए) के साथ 93 फीसदी बारिश होगी। इसमें पांच फीसदी ऊपर या नीचे का संशोधन हो सकता है।

आईएमडी ने कहा कि अत्यधिक बारिश की संभावना दो फीसदी है जबकि सामान्य से अधिक वारिश की संभावना 10 फीसदी, लेकिन स्काइमेट ने दोनों की शून्य संभावना बताई है।

मौसम विभाग का अनुमान है कि इस साल देश में बारिश का वितरण अच्छा रहेगा और लगभग सामान्य बारिश होगी। आईएमडी के अनुसार लंबी अवधि में औसत बारिश 96 फीसदी हो सकती है जिसमें पांच फीसदी कम या ज्यादा का संशोधन हो सकता है।

आईएमडी के महानिदेशक के. जे. रमेश ने मानसून पर अलनीनो के विपरीत प्रभाव का खंडन किया है।