मप्र में अनियंत्रित भीड़ तंत्र, मॉब लिंचिंग से घिरी सरकार

0
62

भोपाल : मध्य प्रदेश में अनियंत्रित होते भीड़ तंत्र और मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीटना) की बढ़ती घटनाओं पर काबू पाने के लिए एक ओर सरकार जहां इसके खिलाफ सख्त कानून लाने की बात कर रही है तो दूसरी ओर विपक्ष ने राज्य की सरकार को इतिहास की सबसे असफल सरकार करार दिया है।

आमतौर पर राज्य में हिंसक प्रतिक्रिया कम ही देखने को मिलती है, लेकिन बीते एक सप्ताह के दौरान भीड़ के हिंसक होने की कई घटनाएं सामने आई हैं। दो घटनाएं तो ऐसी हैं, जिसमें भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या ही कर दी। इसके अलावा तीन अन्य स्थानों पर भी भीड़ के हिंसक होने की घटना सामने आई है।

एक ताजा मामला रायसेन जिले के मंडीदीप का है, जहां भीड़ ने बच्चा चोरी करने के आरोप में एक विक्षिप्त व्यक्ति को इतना पीटा कि वह गंभीर रूप से घायल हो गया और अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके अलावा शुक्रवार की रात को नीमच के कुकडेश्वर थानाक्षेत्र के लसूरिया आतरी गांव में भीड़ ने मोर की चोरी करने के शक में तीन लोगों को पकड़कर उनकी पिटाई कर दी। पकड़े गए तीन में से एक हीरा लाल (58) की अस्पताल ले जाने के दौरान मौत हो गई, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल है।

वहीं, राजधानी में शनिवार को बाणगंगा क्षेत्र में भीड़ ने विशाल गिरी नामक युवक के बच्चा चोर होने के शक में पिटाई कर दी। पुलिस के अनुसार, दो युवक जो वाहन चोरी में लिप्त थे, उन्हें लोगों ने घेरा, तभी एक व्यक्ति सचिन शर्मा भाग गया, हालांकि उसका साथी भीड़ के कब्जे में आ गया। भीड़ ने विशाल की पिटाई कर दी।

इससे पहले देवास में एक महिला की बच्चा चोर होने के शक में पिटाई कर दी गई थी। वहीं, वायरल हुए मंडीदीप के एक वीडियो में बकरा चोरी करने के आरोप में लोगों ने व्यक्ति को पीटा। इसके अलावा नीमच में बकरा चोरी करने के मामले में तीन लोगों को भीड़ ने मारा था और उनकी मोटसाइकिल को जला दिया था। इस मामले में पुलिस ने कुल आठ लोगों को गिरफ्तार किया था।

राज्य में मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं के सवाल पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को कहा, राज्य में मॉब लिचिंग करने वालों के खिलाफ कानून लाया जा रहा है।

गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा, इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं, आरोपियों को गिरफ्तार कर कार्रवाई की जा रही है। पुलिस विभाग इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सख्त कदम उठाएगी।

विधानसभा परिसर में शनिवार रात संवाददाताओं से बातचीत में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जताते हुए कहा, मॉब लिंचिंग की घटनाएं सभ्य मानव समाज पर कलंक हैं, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हमारी पार्टी का भी कहना कि इस तरह की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। जहां तक मध्य प्रदेश की बात है यह सरकार मॉब लिंचिंग, बच्चों की हत्या, दुष्कर्म की घटनाएं रोकने में असफल रही है। कुल मिलाकर यह मध्य प्रदेश के इतिहास की सबसे असफल सरकार है।