जेल में यातना दी गई, माफी नहीं मांगूगी : प्रियंका शर्मा

0
45

कोलकाता : सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मीम साझा करने के बाद पांच दिन तक जेल में रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा ने बुधवार को कहा कि जेल में उन्हें यातना दी गई और वह मामले पर माफी नहीं मांगेंगी।

पुलिस ने शुक्रवार को उन्हें गिरफ्तार किया था। शर्मा ने अदालती लड़ाई लड़ने की कसम खाई क्योंकि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया।

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को शर्मा की रिहाई का आदेश दिया था, जिसके बाद बुधवार सुबह करीब 9.30 बजे उन्हें रिहा कर दिया गया।

शिकायत करते हुए शर्मा ने कहा कि जेल के कर्मचारियों ने उनके साथ बहुत ही अशिष्ट व्यवहार किया और उन्हें पांच दिनों तक किसी से भी बोलने नहीं दिया।

उन्होंने कहा, उन्होंने मुझे यातना दी। जेलर ने मुझे धक्का दिया। यहां तक की जमानत मिलने के बाद भी मुझे किसी से बात तक नहीं करने दी गई।

शर्मा ने बताया कि उन्हें जेल में पानी को लेकर भी दिक्कत आई, महिला शौचालय में पानी नहीं था।

उन्होंने कहा, मैं अब मामले से अपना नाम हटाने और केस जीतने के लिए अदालती लड़ाई की तैयारी करूंगी।

सुप्रीम कोर्ट जुलाई में इस मामले की फिर से सुनवाई करेगी। पश्चिम बंगाल सरकार का कहना है कि सोशल मीडिया पर मीम साझा करने के लिए शर्मा को माफी मांगनी चाहिए।

उन्होंने पूछा, मैंने कोई गलत काम नहीं किया है। इसलिए मुझे माफी क्यों मांगनी चाहिए? शर्मा ने सवाल किया कि पुलिस ने उन्हें ही क्यों निशाना बनाया जबकि बहुत सारे लोगों ने पोस्ट को साझा किया था।

शर्मा ने कहा, उन्होंने पोस्ट साझा करने वाले कई अन्य लोगों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया है?

10 मई को फेसबुक पर बनर्जी की मॉफ्र्ड तस्वीर (बदली हुई) साझा करने के आरोप में शर्मा को हावड़ा जिले से गिरफ्तार किया गया था।

भाजपा के युवा मोर्चा की नेता शर्मा के खिलाफ दासनगर पुलिस स्टेशन में सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने की शिकायत दर्ज की गई थी।

शर्मा ने हाल ही में मेट गाला इवेंट में बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की छवि का इस्तेमाल मीम बनाने के लिए किया। इस साल के मेट गाला की थीम कैंप: नोट्स ऑन फैशन थी।