शहबाज ने इमरान पर कश्मीर का भविष्य बेचने का आरोप लगाया

0
55

इस्लामाबाद : पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष और विपक्षी नेता शहबाज शरीफ ने अपने देश के प्रधानमंत्री इमरान खान पर आरोप लगाया है कि वह कश्मीर का भविष्य बेच रहे हैं।

समाचार पत्र डॉन के अनुसार, नेशनल असेंबली के संयुक्त सत्र के दौरान शुक्रवार को सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पीएमएल-एन के सांसदों ने एक-दूसरे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने की कोशिश करने का आरोप लगाया।

शहबाज शरीफ ने कहा कि इमरान खान ने कश्मीर का भविष्य बेच दिया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा पाकिस्तान सरकार और देश के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (भ्रष्टाचार विरोधी निकाय) के बीच एक सांठगांठ थी।

भारत सरकार ने सोमवार को संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया और जम्मू एवं कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त कर दिया, जिसे लेकर पाकिस्तान में नेतृत्व को व्यापक रूप से विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

नई दिल्ली के उठाए गए कदम के बाद इस्लामाबाद ने भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया और सभी द्विपक्षीय व्यापारिक संबंधों को खत्म करने व सभी द्विपक्षीय व्यवस्था की समीक्षा करने की बात कही है।

अपनी भतीजी और पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरयम नवाज और भतीजे यूसुफ अब्बास की गिरफ्तारी को लेकर शहबाज ने सरकार पर निशाना साधा।

शहबाज शरीफ ने कहा, कश्मीर मुद्दे पर संसद में विपक्ष द्वारा तैयार किए गए सद्भाव और एकता के माहौल को सरकार ने सरकार ने अपने राजनीतिक एजेंडे को पूरा करने के लिए खराब कर दिया।

उन्होंने आगे कहा, जम्मू एवं कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म किए जाने के मोदी के फैसले के बाद यहां विपक्ष ने सद्भाव और एकता का माहौल बनाया, लेकिन सरकार ने मरयम नवाज को गिरफ्तार कर उस एकता को तोड़ दिया।

शहबाज शरीफ ने दावा किया कि मरयम नवाज सहित विपक्षी दलों के शीर्ष नेताओं में पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी के अलावा ख्वाजा साद रफीक, राणा सनाउल्ला, हमजा शहबाज, मिफ्ता इस्माइल और पीपीपी नेता आसिफ अली जरदारी शामिल हैं। इन्हें सरकार ने कश्मीर मुद्दे से जनता का ध्यान हटाने के लिए गिरफ्तार किया है। उन्होंने आगे कहा, हम इस नीति से डरने वाले नहीं हैं और हम कभी सरकार के आगे घुटने नहीं टेकेंगे।

समाचार पत्र डॉन के अनुसार, पीटीआई सरकार कश्मीर मुद्दे से ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है। इसके जवाब में संसदीय कार्यमंत्री अली मोहम्मद खान ने कहा, नवाज शरीफ की पोती की शादी में शामिल होने के लिए मोदी पाकिस्तान आए थे। उन्होंने कहा, इमरान खान ने मोदी को कभी नहीं बुलाया, आपने उन्हें यहां बुलाया।