वैश्विक समस्या के निपटारे में विज्ञान की अहम भूमिका : दया रेड्डी

0
42

बीजिंग : अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान परिषद के अध्यक्ष प्रो. दया रेड्डी ने कहा कि विश्व विज्ञान व तकनीक और विकास मंच ज्ञान साझा करने और आदान प्रदान करने और सहयोग व आवाजाही की स्थापना को आगे बढ़ाने के अच्छे प्लेटफार्म में हैं। उन्होंने कहा कि वैश्विक समस्या का निपटारा करते समय विज्ञान व तकनीक अहम भूमिका अदा करती है।

रेड्डी ने कहा कि यदि हम विज्ञान और युवाओं के विकास में सफलता पाना चाहते हैं, तो हमें वैज्ञानिक व तकनीक नवाचार करना होगा और विभिन्न स्तरीय अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करना होगा।

चीन में पहला विश्व विज्ञान, तकनीक व विकास मंच पेइचिंग में आयोजित हुआ जिसमें 18 देशों से आए 400 से अधिक प्रतिनिधियों, नोबेल पुरस्कार विजेताओं, विश्व के महत्वपूर्ण वैज्ञानिक व तकनीक संगठनों के सदस्यों, विश्वविद्यालयों के अध्यक्षों और उद्यमियों ने भाग लिया।

सम्मेलन में विशेषज्ञों ने एक साथ विज्ञान व तकनीक के बारे में चर्चा की और भविष्य के विकास की खोज करने की कोशिश की। वर्तमान मंच की मुख्य थीम है विज्ञान, तकनीक और विकास है।

चीनी सीपीपीसीसी की राष्ट्रीय कमेटी के उपाध्यक्ष और चीनी विज्ञान सोसाइटी के अध्यक्ष वान कांग ने कहा, हमें हाथ मिलाकर अंतर्राष्ट्रीय आवाजाही व सहयोग को गहरा करना चाहिए। यह विभिन्न देशों की जनता और विश्व विज्ञान व तकनीक जगत की नई अभिलाषा से भी मेल खाता है।

चीनी विज्ञान अकादमी के प्रभारी पाई छ्वनली ने कहा कि हाल में उनकी संस्था ने विश्व के 45 देशों की 90 से अधिक विज्ञान व अनुसंधान संस्थाओं व विश्वविद्यालयों के साथ सामरिक सहयोग संबंध बनाए हैं। चीनी विज्ञान अकादमी समानता व आपसी लाभ, आपसी विश्वास और तमाम खुलेपन की विचारधारा से विभिन्न देशों के वैज्ञानिक व तकनीक जगतों से चतुमुर्खी, उच्च व गहन स्तरीय वैज्ञानिक व तकनीक सहयोग को आगे बढ़ाएगा।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)