मोदी ने खुले में शौच से मुक्त होने पर गांवों को सराहा

0
719
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश के दो गांवों के खुले में शौच से मुक्त होने और स्वच्छ भारत अभियान के तहत दूसरे क्षेत्रों के लिए उदाहरण कायम करने को लेकर सराहना की।
मोदी ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 33वें संस्करण में 17.5 लाख रुपये की सरकारी सहायता लौटाने और अपने बलबूते पर शौचालयों का निर्माण करने के लिए उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के एक छोटे से गांव की सराहना की।उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश के एक छोटे से मुस्लिम बहुल गांव मुबारकपुर के लोगों ने जिस प्रकार अपने गांव को ओडीएफ (खुले में शौच से मुक्त) कर लिया, उससे मैं खुश हूं, साथ ही हैरान भी। हालांकि उन्हें शौचालयों के निर्माण के लिए 17 लाख रुपये की सरकारी सहायता मिली, लेकिन उन्होंने उसे लौटा दिया।मोदी ने साथ ही आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले के ग्रामीणों की भी सराहना की, जिन्होंने 71 गांवों के लिए 100 घंटों में 10,000 शौचालयों का निर्माण कर रिकॉर्ड बनाया।

मोदी ने कहा, हाल ही मेरे सामने एक शानदार मामला आया। यह विजयानगरम जिले का है, जहां के प्रशासन ने लोगों की भागीदारी से यह बड़ा काम किया। 10 मार्च, सुबह छह बजे से 14 मार्च, सुबह 10 बजे तक प्रशासन और लोगों ने साथ मिलकर सौ घंटे में 10,000 शौचालयों का निर्माण करके 71 गांवों को ओडीएफ किया।

मोदी ने कहा कि ये उदाहरण बेहद प्रेरक हैं।

पांच राज्य खुले में शौच से मुक्त घोषित किए जा चुके हैं। हाल में उत्तराखंड व हरियाणा को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया है। कुल मिलाकर, दो लाख से भी ज्यादा गांवों और 147 जिलों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जा चुका है।

 

Powered by WPeMatico