महबूबा ने ममेरे भाई के खादी बोर्ड में चयन की जांच के आदेश दिए

0
150
जम्मू:जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपने ममेरे भाई अरूत मदनी की राज्य केवीआईबी में एक अधिकारी के रूप में चयन की जांच के रविवार को आदेश दिए, जबकि मदनी ने भाई-भतीजावाद के आरोपों के बाद नियुक्ति लेने से इनकार कर दिया है।
पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के नेता और मंत्री नईम अख्तर ने कहा कि मुख्य सचिव बी.बी. व्यास पीडीपी के उपाध्यक्ष सरताज मदनी के पुत्र, अरूत मदनी के चयन की जांच का नेतृत्व करेंगे।
सरताज मदनी महबूबा मुफ्ती के मामा हैं।
विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) ने मुख्यमंत्री पर भाई-भतीजावाद का आरोप लगाया है, और कहा है कि पूरी चयन प्रक्रिया अरूत मदनी के पक्ष में हुई है।
पीडीपी के एक अन्य नेता रफी मीर ने एक बयान में कहा कि भाई-भतीजावाद के आरोपों के बाद अरूत मदनी ने नियुक्ति लेने से इनकार कर दिया है।
पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकारी अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा कि अरूत मदनी का नियुक्ति स्वीकारने से इंकार करना इस बात का संकेत करता है कि वह जांच का सामना करने को तैयार नहीं हैं।
उमर ने कहा कि नियुक्ति स्वीकारने से इंकार करने भर से इस चयन में किया गया फर्जीवाड़ा खत्म नहीं हो सकता।
उमर ने ट्वीट किया, जांच वापस क्यों ली जानी चाहिए? मदनी के नौकरी लेने से इनकार करने से फर्जीवाड़ा और भाई-भतीजावाद खत्म नहीं हो जाता।