…तो अब आधार कार्ड से होगा पेमेंट !

टेक्नोलॉजी

नई दिल्ली : मोदी सरकार देश में काला धन खत्म करने के लिए कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाना चाहती है. यानी कोई भी लेन-देन नकद की जगह डिजिटल तरीके से हो. इसके लिए सरकार अब एक बड़ी तैयारी में जुट गई है. जहां क्रेडिट-डेबिट कार्ड की जगह आधार कार्ड से पेमेंट हो जाएगा.
सरकार एक कॉमन मोबाइल फोन एप तैयार करना चाह रही है. कारोबारी या दुकानदार इसका इस्तेमाल आधार-इनेबल्ड भुगतान के लिए कर पाएंगे. इसका मतलब है कि किसी भी तरह की शॉपिंग या ट्रांजैक्शंस के लिए आपको अपने साथ क्रेडिट और डेबिट कार्ड ले जाने की जरूरत नहीं होगी. सिर्फ अपना आधार नंबर बताना होगा और अथॉन्टिकेशन के साथ ही लेन-देन हो जाएगा. नीति आयोग इसके लिए देश के सभी मोबाइल बनाने वाली कंपनियों से भी बात कर रहा है.
आपका आधार कार्ड ही किसी भी तरह के पेमेंट करने का जरिया बन जाएगा. लोगों को अपने आधार को पहले बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा. बाद में फंड ट्रांसफर, बैलेंस इनक्वयारी, कैश डिपाजिट, विदड्राअल के लिए आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम यानी एइपीएस का इस्तेमाल कर पाएंगे.
एइपीएस के बायोमेट्रिक अथॉन्टिकेशन की क्षमता अभी 10 करोड़ है. इसे धीरे-धीरे 40 करोड़ की जा रही है. पेमेंट एक एप के जरिए होगा, इसके लिए मोबाइल हैंडसेट में आइरिस या थम्ब आइडेंटिफिकेशन की सुविधा रहेगी. नीति आय़ोग के मुताबिक ये सुविधा सभी 118 पब्लिक और प्राइवेट बैंक के उपभोक्ताओं को मिलेगी. इस योजना के अमली जामा पहनने के बाद देश कैशलेस इंडिया बनने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ जाएगा.