करण जौहर ने किया मोहम्मद रफी का अपमान !

मनोरंजन

नई दिल्ली : बॉलीवुड के मशहूर निर्देशक करन जौहर की फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ को लेकर पुराना विवाद अभी थमा भी नहीं कि एक और विवाद खडा हो गया है. अब ये विवाद फिल्म के एक डायलॉग को लेकर है जिसमें फिल्म की अभिनेत्री अनुष्का शर्मा कहती हैं कि ‘मोहम्मद रफी गाते नहीं, रोते हैं.’
इस डायलॉग की वजह से मोहम्मद रफी का परिवार गुस्से में है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में मोहम्मद रफी के बेटे शाहिद रफी ने कहा है कि इस डायलॉग की वजह से ना फिल्म को कोई फायदा हुआ है ना ही नुकसा, अगर ऐसा ही है तो फिर फिल्म में इसकी क्या आवश्यकता है और ये डायलॉग लिते समय उन्हें ये एहसास भी नहीं हुआ कि वे किसके बारे में लिख रहे हैं.
अपने पिता की महानता का गुणगान करते हुए शाहिद रफी आगे कहते हैं कि मोहम्मद रफी इतने महान गायक है और मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा कि क्योंकि वो मेरे पिता है. उनकी मौत के 36 साल बाद भी उनकी फैन फॉलोइंग इतनी है कि जितनी आज के बड़े सिंगर्स की भी नहीं है.
शाहिद ने आगे कहा कि इस इंडस्ट्री में उनके बारे में कोई भी बुरा नहीं बोलता है. ये उनका अपमान है. ये बेवकूफी भरा है. जिसने भी ये डायलॉग लिखा है वो बेवकूफ है. मेरे पिता ने शम्मी कपूर, राजेंद्र कुमार, जोय मुखर्जी, विश्वजीत सिंह के लिए गाने गाए हैं. लव सॉन्ग से लेकर कौव्वाली तक हर तरह के गीत उन्होंने गाए. इस फिल्म में जो कुछ भी कहा गया है वो हास्यास्पद है.
शाहिद इस बात से हैरान हैं किर करन जौहर ने इस डायलॉग को फिल्म में कैसे शामिल किया. शाहिद कहते हैं कि ये देखने के बाद मुझे संदेह है कि करन को ये पता भी है कि वो क्या कर रहे हैं. वो मेरे पिता की बेइज्जती कर रहे हैं. मैंने करन से ये उम्मीद नहीं की थी. जब उनके पिता यश जौहर ने 1980 में फिल्म दोस्ताना बनाई थी तो मेरे पिता ने उनके लिए मेरे दोस्त किस्सा ये क्या हो गया, सुना है कि तु बेवफा हो गया गाना गाया था. मुझे नहीं पता कि ये लाइन उन्होंने फिल्म में क्यों ली. शायद शोहरत सर ज्यादा चढ गई है. जब शोहरत ज्यादा चढ़ जाती है तो लोग मुंह पर तारीफ करते हैं और पीठ पीछे थू-थू करते हैं.
शाहिद का कहना है कि वो इसे लेकर सीबीएफसी के चेयरमैन पंकज निहलानी से भी मिलेंगे. उन्होंने कहा है कि उन्हें इस डायलॉग को लेकर फैंस ने काफी संदेश भेजे हैं और एक्शन लेने की मांग की है. शाहिद ने कहा कि मैं निहलानी जी से बात करूंगा. मैं उन्हें अच्छे से जानता हूं. मैं देखूंगा कि वो मुझे एक्शन लेने के लिए क्या सलाह देते हैं. इस डायलॉग को सेंसर करना चाहिए.