भारतीय रक्षा वैज्ञानिक को अमेरिकी मिसाइल पुरस्कार

0
102

बेंगलुरू : सरकार द्वारा संचालित रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन डीआडीओ के अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी को अमेरिकी इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स ने 2019 के मिसाइल सिस्टम्स अवार्ड से सम्मानित किया है। उन्हें यह पुरस्कार एक अन्य वैज्ञानिक के साथ संयुक्त रूप से दिया गया है।

वर्जीनिया स्थित अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी सोसायटी ने रविवार को एक बयान में कहा, रेड्डी को बहुविधि रणनीतिक एवं टैक्टिकल मिसाइल प्रणालियों, निर्देशित हथियारों, उन्नत वैमानिक एवं नौवहन प्रौद्योगिकी की भारत में घरेलू डिजाइन तैयार करने, उसका विकास करने और उसे तैनात करने में तीन दशकों के योगदान के लिए चुना गया था।

रेड्डी 55 रक्षा सचिव और यहां डीआरडीओ की अंतरिक्ष शाखा एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी एडीए के महानिदेशक भी हैं।

मिसाइल अवार्ड के दूसरे विजेता रोनडेल जे. विल्सन अरिजोना के टकसन स्थित रेथियन मिसाइल सिस्टम्स के सेवानिवृत्त इंजीनियरिंग फेलो हैं।

बयान में कहा गया है, विल्सन का चयन उनके तकनीकी नेतृत्व और नवाचार के लिए किया गया है, जिससे दुनिया की प्रमुख मिसाइल रक्षा प्रणालियों का प्रदर्शन और उनकी क्षमता उन्नत हुई है।

यद्यपि यह पुरस्कार मैरीलैंड के लॉरेल स्थित जॉन हॉपकिन्स युनिवर्सिटी की अप्लाइड फिजिक्स लैबोरेटरी के कोसियाकोफ सेंटर में सात मई से नौ मई तक आयोजित सोसायटी के रक्षा फोरम में प्रदान किया जाएगा, लेकिन रेड्डी यह पुरस्कार भारत में प्राप्त करेंगे।