नौकरी देने के मामले में भारत में 2019 में पारदर्शिता होगी मुख्य कारक

0
69

नई दिल्ली : बात जब नौकरी देने की हो तो भारत में इस वर्ष चार मुख्य ट्रेंड्स के रूप में सॉफ्ट स्किल्स, काम के दौरान लचीलापन, शोषण-रोधी नीतियां और पारदर्शिता आए हैं। माइक्रोसॉफ्ट के प्रोफेशनल नेटवर्किं ग प्लेटफॉर्म लिंक्डइन ने बुधवार को यह जानकारी दी।

लिंक्डइन की ग्लोबल टैलेंट ट्रेंड्स 2019 रिपोर्ट के अनुसार, अध्ययन में खुलासा हुआ कि सॉफ्ट स्किल्स भारत जैसे विकासशील बाजारों में महत्वपूर्ण हो गई हैं जो विकासशील देशों में मानव संसाधन और नियुक्ति उद्योग के भविष्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस (एआई) और ऑटोमेशन प्रौद्योगिकियों के उदय के साथ, भारत में 87 फीसदी उत्तरदाता मानते हैं कि स्ट्रांग स्किल्स वाले उम्मीदवारों की महत्ता उनके संस्थान में बढ़ रही है वहीं 53 फीसदी ने कहा कि उनकी कंपनी में कर्मियों में सॉफ्ट स्किल्स लाने की सामान्य प्रक्रिया है।

रिपोर्ट में कहा गया, कार्यस्थल पर वेतन बहुत ही निजी विषय होता है और अब पेस्केल और लिंक्डइन जैसी साइट्स पर वेतन की जानकारी देकर कंपनियों पर वेतन को लेकर और ज्यादा दवाब बढ़ गया है।

भारत में लगभग 71 फीसदी लोगों ने स्वीकार किया कि कर्मियों के लिए वेतन की जानकारी साझा करना बेहतर नौकरी के लिए संतुष्टि को बढ़ावा देता है और 78 फीसदी कर्मियों को डर है कि इससे वर्तमान कर्मियों में वेतन संबंधी विवाद पैदा हो सकता है।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि नियुक्ति और मानव संसाधन उद्योग के भविष्य के लिए शोषण पर रोक को बहुत ही महत्वपूर्ण मानने वाले 71 फीसदी लोगों की तुलना में 87 फीसदी भारतीय इस विचार से सहमत हैं।