सरकार ने इंटर स्तरीय पदों की भर्ती के लिए साल 2014 में निकाले आवेदन लेकिन नहीं हुआ अभी तक परीक्षा

0
132


Rajpath Desk : बिहार में सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए आपको पहले अपने धैर्य की परीक्षा पास करनी होगी। क्योंकि यहां नियुक्ति प्रक्रिया सालों-सालों तक चलती है। चाहे बिहार एसएससी हो या बीपीएससी दोनों समय पर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने में ‘फेल’ हैं।
बिहार सरकार ने इंटर स्तरीय पदों की भर्ती के लिए साल 2014 में आवेदन निकाला। सरकार के अलग-अलग विभागों में 11 हजार से अधिक पदों पर नियुक्ति के लिए सरकार ने वैकेंसी जारी की। सरकारी नौकरी का सपना देख रहे युवाओं ने बड़ी संख्या में आवेदन डाला। करीब 18 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने इंटर स्तरीय पदों के लिए फॉर्म भरा था।
फॉर्म भरने के बाद उम्मीदवार परीक्षा का इंतजार करते रहे, लेकिन तीन साल तक कोई सुगबुगाहट नहीं दिखी। फिर जाकर साल 2017 में इंटर स्तरीय पदों की भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन हुआ। लेकिन परीक्षा में धांधली होने के कारण परीक्षा रद कर दी गई। उसके बाद से फिर से छात्र उम्मीद लगाए बैठे हैं कि कब दोबारा परीक्षा होगी?
साल 2014 में इंटर स्तरीय परीक्षा के साथ संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा के लिए भी नोटिफिकेशन जारी किया गया। लाखों उम्मीदवारों ने सचिवालय सहायक व दारोगा आदि पदों के लिए फार्म भरा। 2015 में परीक्षा का आयोजन भी कराया गया। संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा के लिए बिहार कर्मचारी चयन आयोग ने थोड़ी तेजी दिखाते हुए पीटी के तुरंत बाद मेंस परीक्षा का आयोजन भी किया।
आयोग द्वारा जारी परीक्षा के कटऑफ को लेकर कुछ उम्मीदवारों ने कोर्ट में केस कर दिया। कोर्ट में केस हो जाने के बाद नियुक्ति प्रक्रिया को फाइनल होने में थोड़ी और देर लगी। कोर्ट से फैसला आने के बाद भी बिहार एसएससी प्रशासन अभी तक नियुक्ति का पत्र जारी नहीं कर रहा है। जबकि इस परीक्षा का फाइनल रिजल्ट भी जारी कर दिया गया है।
बिहार कर्मचारी चयन आयोग की तरह बीपीएससी के भी सुस्त रवैये से युवाओं का कॅरियर अधर में है। बिहार पब्लिक सर्विस कमिशन ने साल 2014 में 56 से 59वीं सिविल सेवा परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी किया। अगले साल प्रारंभिक परीक्षा आयोजित हुई। रिजल्ट आने के बाद पीटी के कुछ प्रश्न को लेकर बवाल हुआ।
नतीजा कुछ उम्मीदवारों मामला कोर्ट में लेकर पहुंच गए। कोर्ट में मामला जाने के कारण प्रक्रिया लंबी चली। फिर दो साल बाद 2016 में मेंस की परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा के डेढ़ साल बीत जाने के बाद अभी रिजल्ट की कोई खबर नहीं है। इस बीच आयोग ने 60 से 62वीं सिविल सेवा परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी कर पीटी परीक्षा ले ली। अभी तक पिछली नियुक्ति प्रक्रिया संपन्न नहीं हुई है।
बीएसएससी के पास नहीं है पुख्ता व्यवस्था
बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) के पास पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने के कारण समय पर परीक्षाएं नहीं आयोजित हो पाती हैं। सूत्रों के अनुसार आयोग का अपना स्ट्रांग रूम नहीं है। जहां ओएमआर शीट, प्रश्न पत्र अथवा अन्य कोई अति गोपनीय फाइल रखी जा सके। परीक्षा संबंधी अन्य तैयारियों के लिए भी आयोग के ऑफिस में कर्मचारियों की कमी है। बता दें कि इंटर स्तरीय परीक्षा में 18.50 लाख परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है।
कब आया था नोटिफिकेशन                   स्थिति
बिहार एसएससी इंटरस्तरीय 2014           अभी तक नहीं हुई परीक्षा
बिहार एसएससी स्नातक स्तरीय 2014     नियुक्ति प्रक्रिया नहीं हुई पूरी
बीपीएससी 56 से 59वीं 2014                   मेंस का रिजल्ट नहीं हुआ जारी
बीपीएससी  60 से 62वीं 2016                  मेंस परीक्षा की तिथि नहीं हुई घोषित