इस्लामाबाद में शिक्षकों, विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य होगा ड्रग टेस्ट!

0
179

इस्लामाबाद : एक चौंकाने वाले घटनाक्रम में पाकिस्तान की इमरान सरकार ने कहा है कि वह राजधानी इस्लामाबाद में स्कूलों के विद्यार्थियों, शिक्षकों व अन्य स्टाफ के लिए मादक पदार्थो के परीक्षण (ड्रग टेस्ट) को अनिवार्य बनाने की योजना बना रही है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, देश के मादक पदार्थ नियंत्रण राज्य मंत्री शहरयार अफरीदी ने मादक पदार्थ नियंत्रण मामलों की सीनेट की स्थाई समिति के समक्ष पेश होने के दौरान यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि युवाओं को मादक पदार्थ देने वाले किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा, भले ही वह कोई सांसद ही क्यों न हो। मंत्री ने कहा कि सरकार क्रिस्टल मेथाफेटामाइन नामक मादक पदार्थ को रखने और इसका वितरण करने वाले को दंडित करने के लिए एक कानून बनाने पर काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि आम तौर से आइस मेथ के नाम से चर्चित क्रिस्टल मेथाफेटामाइन का चलन देश में बढ़ रहा है। हेरोइन और हशीश जैसे मादक पदार्थो के लिए दंड की व्यवस्था है लेकिन आइस मेथ अभी इस दायरे से बाहर है।

अफरीदी ने कहा कि उनके मंत्रालय ने ढाई सौ अंतर्राष्ट्रीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों की मदद से ड्रग डीलरों और धनशोधन करने वालों का एक डेटा तैयार किया है। उन्होंने साथ ही दावा किया कि इस मामले में इंटरपोल के पूर्व अध्यक्ष रोनाल्ड रोबिन और संयुक्त अरब अमीरात ने पाकिस्तान से मदद मांगी है।