दिल्ली : स्पेशल सेल ने मुठभेड़ में ढेर कर दिए राष्ट्रीय राजधानी के 2 खूंखार बदमाश

0
101

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने सोमवार तड़के करीब 5 बजे हुई जबरदस्त मुठभेड़ में दो बदमाशों को ढेर कर दिया। मारे गए बदमाशों का नाम राजा पहलवान उर्फ रफीक और रमेश उर्फ राजू उर्फ बहादुर है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के साथ दोनों की मुठभेड़ उस वक्त हुई जब वे मां आनन्दमयी मार्ग तुगलकाबाद के रास्ते ओखला मंडी इलाके की ओर जा रहे थे।

दिल्ली पुलिस के एक आला अधिकारी ने सोमवार को आईएएनएस को बताया, मुठभेड़ के दौरान दोनों बदमाशों ने हमारी टीमों पर भी जमकर फायरिंग की। चूंकि, पूरी टीम बुलेटप्रूफ जैकेट्स और हथियारों के बीच थी, इसलिए सेफ हो गयी। बदमाशों द्वारा पुलिस की वाहनों पर कई गोलियां चलाई गईं।

मुठभेड़ सुबह पांच बजे के करीब तब हुई जब दोनों बदमाशों को आवाज देकर पुलिस टीम ने सरेंडर करने को कहा। जवाब में पहले तो बदमाश मौके से भागने लगे। उसके बाद उन्होंने पीछे दौड़ रहे पुलिस टीम के सदस्यों पर ही गोलियां झोंकनी शुरू कर दीं।

बचाव और जवाब में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम को भी गोलियां चलानी पड़ीं। कुछ देर दोनों ओर से हुई गोलीबारी में बदमाश गोलियां लगने से जख्मी हो गये। उन्हें पास ही स्थित एक अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

पता चला है कि, मुठभेड़ में ढेर राजा पहलवान विकास कुंज इंद्रपुरी, लोनी, गाजियाबाद का रहने वाला था। जबकि उसका दूसरा मारा गया साथी बदमाश रमेश राजू महालक्ष्मी एन्क्लेव, शिव विहार, करावल नगर दिल्ली में रहता था।

पता चला है कि मारे गये राजा बदमाश के खिलाफ गाजियाबाद के लोनी थाने में हत्या के दो मामले दर्ज थे। इसके अलावा उसके खिलाफ दिल्ली व गाजियाबाद के अन्य थानों में भी कई संगीन वारादातों को अंजाम देने के केस दर्ज थे। गाजियाबाद के लोनी थाना क्षेत्र में उसका आतंक था। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के सूत्रों के मुताबिक, बीती 12 फरवरी को रात करीब 9 बजे राजा पहलवान और रमेश राजू ने दो पुलिसकर्मियों पर ही गोली चला दी थी। एक प्रापर्टी डीलर पर भी उसी वक्त दोनों ने गोलियां चलाई थीं।

उस घटना के कुछ देर बाद ही दोनों रात करीब 9 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली की सीमा से गाजियाबाद में जा पहुंचे। वहां लोनी में रिजवान नाम के शख्स को गोली मार दी। ढेर हुए बदमाश रमेश राजू के खिलाफ दिल्ली के करावल नगर थाना, सराय रोहिल्ला थाना, और खजूरी खास में कई आपराधिक मामले दर्ज मिले हैं।