भाजपा शासित राज्यों में नहीं है कारोबार का माहौल !

0
75

नई दिल्ली : वाणिज्य और उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण ने आसानी से कारोबार करने के माहौल के लिहाज से वर्ष 2016 के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की रैकिंग जारी की. विश्व बैंक के सहयोग से तैयार की गयी इस रैंकिंग को तैयार करने में 340 किस्म के सुधार कार्यक्रमों पर अमल को पैमाना बनाया गया. आसानी से कारोबार करने का माहौल मुहैया कराने के मामले में आंध्र प्रदेश और तेलंगाना अव्वल हो गए हैं जबकि बीते साल पहले पायदान पर रहने वाला गुजरात तीसरे पायदान पर फिसल गया है. शीर्ष के दस राज्यों में बीजेपी या फिर एनडीए में उसकी सहयोगी दलों की सरकार है. इन सुधार कार्यकर्मों में औद्योगिक मंजूरी के लिए एकल खिड़की व्यवस्था, कर सुधार, निर्माण के लिए मंजूरी, पर्यावरण व श्रम सुधार, जांच प्रक्रिया और व्यावसायिक विवादों को सुलझाने को लेकर उठाए गए कदम मुख्य रूप से शामिल हैं. विश्व बैंक का मानना है कि इस तरह की रैकिंग की बदौलत भारत के लिए देश को एक बाजार बनाने और जरूरी संख्या में रोजगार के मौके पैदा करने में मदद मिलेगी.
रिपोर्ट के मुताबिक आंध्र प्रदेश और तेलंगाना साझा रूप से पहले स्थान पर हैं. वर्ष 2015 में आंध्र प्रदेश दूसरे और तेलंगाना 13 वें स्थान पर था. गुजरात पहले स्थान से तीसरे स्थान पर आ गया है जबकि छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश ने चौथा और पांचवा स्थान बरकरार रखा है. हरियाणा छठे पायदान पर है जबकि बीते साल वो 14 वें स्थान पर था. पिछले साल तीसरे स्थान पर रहा झारखंड सातवें स्थान पर है और छठे पायदान पर रहा राजस्थान आठवें स्थान पर आ गया है. सबसे बेहतर प्रदर्शन उत्तराखंड का रहा जो 23 वें स्थान से छलांग लगाकर नौ वें स्थान पर आ गया है. वहीं महाराष्ट्र 8 वें स्थान से फिसलकर 10 वें स्थान पर आ गया है.
इस मौके पर कृषि उत्पादों की खरीद-बिक्री और किसानों के लिए जरुरी सुधार कार्यक्रम अपनाने के मामले में भी राज्यों की रैकिंग जारी की गयी है. इस रैकिंग में महाराष्ट्र पहले, गुजरात दूसरे और राजस्थान तीसरे स्थान पर है.