आंध्र : पार्टनरशिप समिट में 4 लाख करोड़ रुपये के एमओयू

0
201

विशाखापट्नम। आंध्र प्रदेश सरकार ने सीआईआई पार्टनरशिप शिखर सम्मेलन में 4.39 लाख करोड़ रुपये के समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। सम्मेलन का यहां सोमवार को समापन हो गया।
मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने सरकार द्वारा विभिन्न कंपनियों के साथ 734 समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने की घोषणा की। इस निवेश से 11 लाख नौकरियों की रचना की संभावना है।
तीन दिवसीय सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य ने रिलायंस, अडानी समूह, लुलु समूह और गूगल समेत विभिन्न बड़ी कंपनियों से निवेश के करारनामे प्राप्त किए हैं।
रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) और उसके साझेदारों ने शनिवार को राज्य के ऊर्जा, इलेक्ट्रॉनिक और अन्य क्षेत्रों में 55 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की।
नायडू ने कहा कि आरआईएल ने तीन परियोजनाओं के लिए ज्ञापन समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसमें से एक तिरुपति में 10 लाख मोबाइल फोन के उत्पादन के लिए इकाई लगाना है। उन्होंने कहा कि कंपनी उपक्रम पूंजी के साथ नवाचार ऊष्मायन और स्टार्टअप के लिए सर्वश्रेष्ठ पारिस्थितिकी तंत्र की भी रचना करेगी।
संयुक्त अरब अमीरात के लुलु समूह ने विशाखापट्नम में सम्मेलन केंद्र, हॉटल और शॉपिंग मॉल के निर्माण के लिए एक ज्ञापन समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।
अडानी समूह ने भावानपाडु बंदरगाह के विकास समेत नौ हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है।
नायडू ने कहा कि वह निजी तौर पर परियोजनाओं के विकास की निगरानी करेंगे और निवेशकों को आश्वस्त करेंगे कि सभी मंजूरियां 21 दिनों के अंदर दे दी जाएं।
उन्होंने कहा, अगर आपको कोई दिक्कत है तो आप उसे मेरे संज्ञान में लाएं। मैं आपसे केवल एक कॉल की दूरी पर हूं।