अमेरिका : सीनेट ने यमन में युद्ध के अमेरिकी समर्थन के खिलाफ वोट किया

0
31

वाशिंगटन : अमेरिकी रिपब्लिकन की अगुवाई वाली सीनेट ने यमन में सऊदी नीत सैन्य अभियान को दिए जा रहे अमेरिकी समर्थन को समाप्त करने के लिए वोट दिया है। यह निर्णय अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लगातार सऊदी को समर्थन देने के कदम के विरुद्ध है।

वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, यह महीने में दूसरी बार है जब सीनेट ने क्षेत्र में ईरान के विस्तार को रोकने के नाम पर अमेरिका के लगातार हौती विद्रोहियों के खिलाफ सऊदी अरब के बमबारी अभियान में भागीदारी को खारिज किया है।

दिसंबर में, सैन्य संघर्षो से अमेरिकी बलों को बाहर निकालने का बिल तब के रिपब्लिकन नीत कांग्रेस में रोक दिया गया था।

राष्ट्रपति की शक्तियों में कमी करने के अभूतपूर्व प्रयास के तहत सीनेट प्रस्ताव में संघर्षग्रस्त क्षेत्र में 30 दिनों को अंदर अमेरिकी सैन्य संलिप्तता को समाप्त करने को कहा गया है। अगर यह प्रस्ताव डेमोक्रेट नीत सदन से पारित हो गया तो ट्रंप इसपर वीटो करने की बात कही है।

सीनेटर क्रिस मर्फी ने कहा, हमें उस बमबारी अभियान से नहीं जुड़ना चाहिए, जिसके बारे में संयुक्त राष्ट्र हमें कहता है कि यह मानवधिकार का घोर उल्लंघन है। यमन में वर्ष 2015 में युद्ध शुरू हुआ था और उसके बाद से इसमें हजारों यमनी मारे गए हैं।

युद्ध में अमेरिका द्वारा बेचे गए हथियारों का प्रयोग सऊदी करता है और इसकी सेना गठबंधन सेना को ड्रोन हमले के लिए लॉजिस्टिकल और खुफिया समर्थन मुहैया कराती है।