वाजिद भाई ने मुझे एक बेटे की तरह माना : गीतकार और ममेरे भाई दानिश साबरी

0
45

मुंबई : गीतकार दानिश साबरी संगीतकार-गायक वाजिद खान के आकस्मिक निधन से सदमे में हैं। साबरी वाजिद के ममेरे भाई थे और उन्होंने दबंग फ्रेंचाइज, मैं तेरा हीरो, तेवर, और डॉली की डोली जैसी कई फिल्मों में साजिद-वाजिद के हिट हुए गाने भी लिखे थे।

दानिश ने अपने अभिभावक और गुरु पर आईएएनएस से बात की। उन्होंने कहा, मैंने अपने पिता के निधन के समय को छोड़कर जीवन में कभी ऐसा महसूस नहीं किया है, जैसा आज कर रहा हूं। आज मैंने अपने अभिभावक, अपने गुरु को खो दिया है। मेरे आसपास की दुनिया पूरी तरह से खाली हो गई है।

उन्होंने आगे कहा, वाजिद भाई ने मेरे लिए बहुत कुछ किया है। आज, मैं उनकी वजह से एक गीतकार हूं। वह मेरे मामा (मामा) के बेटे थे, लेकिन वह मेरे अपने भाई से कहीं ज्यादा थे। वह मेरे जीवन में एक पिता के रूप में थे। न सिर्फ मुझसे बल्कि बहुत सारे लोगों के लिए मैंने उन्हें ऐसा व्यवहार करते देखा है। यह उनका स्वभाव था।

उन्होंेने कहा, किसी व्यक्ति के चेहरे को देखकर वह अनुमान लगाया जा सकता है कि वह तनाव या परेशानी में है। वह दूसरों के अस्पताल के बिल भरने में सोचते नहीं थे। वह अपनी बिल्डिंग के चौकीदार तक का ख्याल रखने वाले व्यक्ति थे। वह एक फरिश्ते की तरह थे।

साबिर आगे बताते हैं, जब मैं गायक बनने का सपना लेकर मुंबई आया तो उन्होंने सुझाव दिया कि मैं एक गीतकार बन सकता हूं क्योंकि उन्हें मेरा लेखन पसंद आया और उन्होंने मुझे सलमान (खान) भाई से मिलवाया। मुझे अपने घर पर रखा।

मैंने उनके लिए बहुत सारे गाने लिखे हैं – तेरा ध्यान किधर है तेरा हीरो इधर है, मैं हूं सुपरमैन सलमान का फैन। हमारा साथ में आखिरी गाना भाई भाई था।