लखनऊ| उत्तर प्रदेश की राजधानी में 21-22 फरवरी को आयोजित यूपी इंवेस्टर्स समिट-2018 का समापन गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया। उन्होंने कहा कि उप्र के पास देश की सबसे बड़ी युवा शक्ति है, इसीलिए यहां निवेशकों के लिए भी अपार संभावनाएं मौजूद हैं। सरकार के दावे के मुताबिक, इस दो दिवसीय समिट में चार लाख 28 लाख करोड़ रुपये के एमओयू हुए हैं।
लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित समिट के समापन सत्र में उप्र के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली और मॉरिशस के रक्षामंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ भी मौजूद थे।
कोविंद ने कहा, “उप्र सरकार ने एक सफल कार्यक्रम का आयोजन किया है, इसीलिए वह बधाई की पात्र है। समिट का आयोजन एक बात होती है, और एक सफल समिट का आयोजन करना बहुत बड़ी बात होती है। इस कार्यक्रम पर पूरे देश की नजरें गड़ी हुई थीं।”
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश की ‘अर्थव्यवस्था को जो शक्ति’ मिली है, उसी का परिणाम है कि उप्र में निवेश करने का एक अच्छा अवसर निवेशकों को मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here