उन्नाव,: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जनपद के थाना बारासगवर के सथनी बालाखेड़ा गांव में युवती को जिंदा जलाकर मारने की वारदात का खुलासा करते हुए स्वाट टीम व पुलिस ने मृतका के कथित प्रेमी विकास गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को युवती का किसी और युवक के बात करना पसंद नहीं था, इसके चलते उसने वारदात को अंजाम दिया। आरोपी को जेल भेज दिया गया है।
बीती 22 फरवरी को थाना बारासगवर के सथनी बालाखेड़ा गांव निवासी 18 वर्षीय दलित युवती मोनी को पेट्रोल डालकर उस वक्त जिंदा जला दिया गया था, जब वह घर के किसी काम के लिए टेढ़ा बाजार अपनी साईकिल से जा रही थी। उसका शव एक खेत में मिला थाए पास ही में मोनी की साइकिल, चप्पल और पिपिया भी मिली थी।
इस मामले की जांच में स्वाट व थाना पुलिस की टीम ने शुक्रवार रात बरामद साक्ष्य के आधार पर मृतका के दोस्त व गांव निवासी विकास गुप्ता (24) पुत्र राजेश गुप्ता का गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है।
शनिवार को आरोपी को मीडिया के सामने पेश करते हुए पुलिस अधीक्षक पुष्पाजंलि देवी ने मामले का खुलासा किया और बताया कि आरोपी विकास गुप्ता की मृतका से घनिष्ठ मित्रता थी। उसे पसंद नहीं था कि मृतका मोनी किसी और से भी बात करें। वह कई बार युवती को किसी अन्य से बात करने के लिए मना करता था, लेकिन युवती के नहीं मानने पर आरोपी ने वारदात को अंजाम दिया।
उन्होंने बताया कि आरोपी ने वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से दो मोबाइल, तेल की पिपिया, वारदात के वक्त पहने पेट्रोल की गंध वाले कपड़े, माचिस, नोटबुक और डायरी बरामद की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here