मुंबई। देश में साल 2017 में सोने की मांग में 9.1 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 726.9 टन रही। वर्ल्ड गोल्ड कौंसिल ने यह जानकारी दी है।
कौंसिल की नवीनतम गोल्ड डिमांड ट्रेंड्स रिपोर्ट के मुताबिक साल 2018 में भारत में सोने की मांग 700-800 टन रहने का अनुमान लगाया गया है।
यहां जारी एक बयान में वर्ल्ड गोल्ड कौंसिल के भारतीय चेप्टर ने कहा कि पिछले साल भारत में सोने की मांग बढ़कर 726.9 टन रही, जबकि साल 2016 में यह 666.1 टन थी।
साल 2017 की चौथी तिमाही में सोने की मांग में साल-दर-साल आधार पर दो फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 249 टन रही, जबकि इस दौरान आभूषण की मांग 17 सालों में सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गई।
इंडिया वर्ल्ड गोल्ड कौंसिल के प्रबंध निदेशक सोमासुंदरम पीआर ने एक बयान में कहा, सोने की मांग में बढ़ोतरी के कई कारण है। सोने की कीमतों में गिरावट के साथ ही घनतेरस आने के कारण इसकी मांग में वृद्धि हुई है। साथ ही अर्थव्यवस्था में सुधार और नोटबंदी का असर खत्म होने के बाद खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राहकों की अवधारणा में सुधार से सोने की मांग बढ़ी है।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here