चेन्नई| पट्टाली मक्कल काची (पीएमके) के संस्थापक एस. रामदॉस ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश की जेलों में बंद लगभग 2700-3000 तमिल कैदियों की रिहाई के लिए कदम नहीं उठाने पर तमिलनाडु सरकार की आलोचना की। यहां जारी बयान के अनुसार, रामदॉस ने कहा, “लाल चंदन के पेड़ों के तस्करी के फर्जी आरोप में तमिलनाडु के लोगों को आंध्र प्रदेश की जेलों में बंद किया गया है।”
रामदॉस ने कहा कि इनमें से 90 प्रतिशत लोगों को तमिलनाडु में गिरफ्तार किया गया है, ना कि आंध्र प्रदेश में।
उन्होंने दावा किया कि इन लोगों को जमानत दी भी जाती है तो भी आंध्र प्रदेश पुलिस इनकी रिहाई रोकने के लिए इन पर दूसरा मामला दर्ज कर देती है।
उन्होंने कहा कि आंध्र की जेलों में बंद प्रत्येक तमिल कैदियों पर कम से कम 25 मामले दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here