चेन्नई। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एम. के. स्टालिन ने गुरुवार को कहा कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी और अन्य राजनीतिक पार्टियों के नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करना चाहिए और उनसे कावेरी प्रबंधन बोर्ड गठित करने का आग्रह करना चाहिए।
यहां राज्य सचिवालय में सर्वदलीय पार्टी बैठक में स्टालिन ने कहा, राज्य को छह माह के अंदर कावेरी प्रबंधन बोर्ड का गठन करने के लिए केंद्र सरकार पर पर्याप्त दबाव डालना चाहिए।
स्टालिन के अनुसार, तमिलनाडु सरकार को कावेरी नदी जल के ज्यादा आवंटन के लिए कानूनी उपायों पर भी विचार करना चाहिए क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय ने नदी के जल आवंटन में तमिलनाडु के लिए 14.75 हजार मीलियन क्यूबिक फीट (टीएमसी) की कमी करने के आदेश दिए हैं।
सर्वोच्च न्यायालय ने 16 फरवरी को तमिलनाडु को कावेरी नदी से 177.25 टीएमसी जल दिए जाने का आदेश दिया था। वर्ष 2007 में इस विवाद के लिए गठित एक प्राधिकरण ने तमिलनाडु को 192 टीएमसी पानी आवंटित करने के आदेश दिए थे।
स्टालिन ने कहा कि राज्य सरकार को जल संसाधन के लिए एक अलग मंत्रालय का गठन करना चाहिए और कृषि के लिए अलग से बजट पेश करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि सरकार को कावेरी नदी जल के बचत और इसके सही इस्तेमाल के लिए एक जल सुरक्षा बोर्ड का भी गठन करना चाहिए।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here