सोनिया ने पीएम को लिखा पत्र, कहा- कच्चे तेल की कम कीमत का लाभ सीधे देश के नागरिकों को दिया जाए

0
65

Rajpath Desk : अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में कमी के बाद भी देश में लगातार वृद्धि ही हो रही है। वहीं बढ़ती कीमत को देखते हुए कांग्रेस हमलावर हो गयी है। सोनिया गांधी ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में सोनिया गांधी ने लिखा है कि यह सरकार का कर्तव्य और जिम्मेदारी है कि वह लोगों के दुखों को दूर करें और उन्हें ज्यादा मुश्किलों में न डाले। कोविड 19 के इस संकट में देश की जनता लगातार महंगाई की मार झेल रही है।

इस संकट की घड़ी में मार्च से लगातार देश की जनता कई तरह की परेशानी झेल रही है। इस बीच लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमत सरकार बढ़ा रही है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार से मांग की कि कीमत को फौरन वापस लिया जाना चाहिए जिससे जनता को राहत मिले।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि कोरोना महामारी के समय लोगों की परेशानी को बढ़ाने वाली इस वृद्धि को वापस लिया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर 2,60,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व जुटाने का प्रयास कर रही है, लेकिन जब प्रधानमंत्री देश के लोगों के आत्मनिर्भर होने की उम्मीद करते हैं तो ऐसे संकट के समय लोगों पर वित्तीय बोझ डालना उचित नहीं है।

सोनिया ने कहा कि मुझे इस बात की पीड़ा है कि ऐसे मुश्किल समय में सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ाने का असंवेदनशील निर्णय लिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि पिछले कुछ दिनों के दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में करीब नौ फीसदी की कमी आई, लेकिन सरकार मुश्किल के समय लोगों को इसका लाभ देने के लिए कुछ नहीं कर रही है।

सोनिया ने पत्र में कहा कि मैं आपसे आग्रह करती हूं कि बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और कच्चे तेल की कम कीमत का लाभ सीधे देश के नागरिकों को दिया जाए।