राम की नगरी अयोध्या में बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था, पुलिस के सहयोग से नदी में किया जा रहा गश्त

0
37

Rajpath Desk : अयोध्या में प्रधानमंत्री के आगमन के चलते यहां की सुरक्षा व्यवस्था को पूरी तरह टाइट किया जा रहा है। पुलिस के आला अधिकारियों की माने तो पीएम के आने से एक दिन पहले ही अयोध्या से सटी सभी जिलों की सीमाओं को सील कर दिया गया है और शहर की तरफ आने वाले हर छोटे-बड़े मार्गों पर बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस का सख्त पहरा लगाया गया है।

अयोध्या जिले के पड़ोसी जनपद बस्ती, गोंडा, अंबेडकरनगर, बाराबंकी, सुलतानपुर, अमेठी आदि में पूर्व में ही नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा चुकी है। पीएम के दौरे को लेकर अयोध्या के पड़ोसी जनपदों को भी अलर्ट पर रखा गया है। इन जनपदों में पूर्व में ही नोडल पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गयी थी, इन अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है।

सरयू नदी पार पड़ोसी जनपद बस्ती व गोंडा की पुलिस द्वारा अयोध्या बार्डर पर लगातार चेकिंग की जा रही, इसके साथ पुलिस टीम द्वारा जल पुलिस के सहयोग से नदी में गश्त किया जा रहा है। इसके अलावा अंबेडकरनगर, सुलतानपुर, अमेठी व बाराबंकी जनपद पुलिस द्वारा बार्डर क्षेत्र पर निगरानी रखी जा रही, उनके द्वारा आने जाने वाले वाहनों व संदिग्धों की तलाशी ली जा रही है। इन जनपदों के अधिकारियों द्वारा अयोध्या पुलिस से लगातार संपर्क रख सभी गतिविधियां शेयर की जा रही है।

पीएम सुरक्षा को लेकर कुल सात जोन बनाए गये हैं, इसमें हनुमानगढ़ी और सरयू तट जोन भी शामिल है। साकेत महाविद्यालय से लेकर नयाघाट तक के मुख्य मार्ग को सुपर सिक्योरिटी जोन में रखा गया है। इस मार्ग पर साकेत महाविद्यालय से आयोजन स्थल तक करीब एक किमी जिस पर प्रधानमंत्री सड़क के रास्ते सफर करेंगे, इन मार्गों पर लगे कई बैरियर सक्रिय हो गये हैं।

चार अगस्त की शाम से अयोध्या में प्रवेश प्रतिबंधित किया जा सकता है. इसके लिए सभी मार्गों पर पूर्व में किए इंतजामों की दोबारा मॉनिटरिंग की जा रही है। अयोध्या में प्रवेश के प्रमुख रास्ते जालपा देवी चौराहा, मोहबरा बाईपास, बूथ नंबर चार, रामघाट, साकेत पेट्रोल पंप, बंधा तिराहा, हनुमान गुफा समेत अन्य छोटे रास्तों को बैरीकेडिंग लगाकर सील करने की तैयारी है।