नई दिल्ली : सर्वोच्च अदालत द्वारा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का कामकाज देखने के लिए नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पर उनके महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान पर दो मैचों का प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है।

इन दोनों खिलाड़ियों ने बॉलीवुड फिल्म निर्माता करण जौहर के शो पर महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी की थी। इसके बाद राय ने इन दोनों पर दो वनडे मैचों के प्रतिबंध की सिफारिश की है। राय ने सीओए के अन्य सदस्य डायना इडुल्जी को ईमेल लिखकर यह बात कही।

राय ने अपने ई-मेल में लिखा है, मैंने आज अखबार में इन दोनों खिलाड़ियों के बयान को पढ़ा। यह बेहुद बयान है। किसी भी तरह की माफी इसकी भरपाई नहीं कर सकती। मैंने डायना से इन दोनों पर पेनाल्टी लगाने को कहा है क्योंकि मैंने क्लिप नहीं देखी है। मुझे लगता है कि हमें दोनों पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा देना चाहिए।

सीओए ने राहुल और पांड्या को कारण बताओ नोटिस भेजा और 24 घंटे के भीतर इसका जवाब मांगा है। पांड्या ने बुधवार को नोटिस का जवाब दे दिया था लेकिन समिति उससे खुश नहीं है।

पांड्या इस शो पर राहुल के साथ गए थे। पांड्या ने अपनी सफाई में कहा था कि वह शो के रंग में रंग गए थे। उन्होंने शो पर कई महिलाओं से अपने शारीरिक संबंध बनाने की बात को कबूला था और कहा था वह इस बारे में अपने घर वालों को भी बताते हैं।

पांड्या ने बुधवार को ट्विटर पर लिखा था, कॉफी विद करण में मैंने जो बयान दिया उस पर मैं उन सभी लोगों से माफी मांगता हूं जिनकी भावनाओं को मैंन आहत किया। उन्होंने लिखा, ईमानदारी से कहूं तो मैं शो के दौरान उसी के रंग में रम गया था। मैं किसी भी तरह से किसी की भी भावनाओं को आहत नहीं करना चाहता था। पांड्या इस समय भारतीय टीम के साथ आस्ट्रेलिया में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here