हैदराबाद : केंद्रीय नागर विमानन सचिव आर.एन. चौबे ने बुधवार को यहां कहा कि कर्ज में डूबी सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के लिए पुनरुद्धार पैकेज पर निर्णय लगभग हो चुका है और इस महीने इसकी घोषणा की जाएगी।

उन्होंने कहा कि पैकेज के संबंध में कोई भी समस्या नहीं है।

चौबे हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर एक अंतरिम अंतर्राष्ट्रीय डिपार्चर टर्मिनल के उद्घाटन के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकार सामान्य रूप से विमानन क्षेत्र पर ध्यान रख रही है, क्योंकि विमानन क्षेत्र ईंधन की बढ़ती कीमत और रुपये के लुढ़कने की वजह से पिछले दो तिमाही से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहा है।

अधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार विमानन क्षेत्र को सभी सहायता मुहैया कराएगी।

उन्होंने कहा, हम सामान्य रूप से विमानन क्षेत्र को समर्थन करने के लिए कई कदमों पर काम कर रहे हैं।

चौबे ने कहा, इसके पीछे इरादा संचालन की कीमतों में कमी लाना है, क्योंकि रुपये के लुढ़कने और ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से लीज के पट्टे में वृद्धि हुई है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जेट एयरवेज ने सरकार से विशेष मदद नहीं मांगी है।

एयर इंडिया पर, उन्होंने कहा कि विनिवेश के कदम पर संबंधित बोली लगाने वालों ने विशेष रुचि नहीं दिखाई।

उन्होंने कहा, हम एयर इंडिया के विनिवेश को लेकर प्रतिबद्ध हैं, यह तभी संभव होगा जब सूक्ष्म आर्थिक परिस्थितियां अनुकूल होंगी। यह तब होगा जब ईंधन की कीमतों में कमी आएगी और रुपये का विनिमय दर बेहतर होगा।

अधिकारी ने कहा कि सरकार एयर इंडिया को सभी सहायता मुहैया कराकर यह सुनिश्चित करेगी कि यह एक अर्थक्षम कंपनी बनी रहे।

उन्होंने कहा, हम यह भी उम्मीद करते हैं कि एयर इंडिया अपनी दक्षता और संचालन क्षमताओं को बढ़ाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here