नई दिल्ली : राज्यसभा में मंगलवार को हंगामे के कारण कार्यवाही बार-बार बाधित हुई और फिर विपक्षी सदस्यों की नारेबाजी के बीच दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित होने के बाद कार्यवाही फिर से जैसे ही शुरू हुई, समाजवादी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के सदस्य आसन के पास पहुंच गए और नारेबाजी करने लगे।

शोर-शराबे के बीच मंत्रियों ने दो सरकारी विधेयक पेश किए। इसके बाद उप सभापति हरिवंश नारायण सिंह ने आधे घंटे के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। जैसे ही सदन की कार्यवाही फिर शुरू हुई, विपक्षी सदस्य सभापति के आसन के पास पहुंच गए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

इसके बाद उप सभापति ने कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले सदन की कार्यवही शून्य काल के दौरान स्थगित हुई थी। राज्यसभा में मंगलवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होनी थी।

सरकार विधायी कार्य पूरे करने के लिए ऊपरी सदन की कार्यवधि एक या दो दिन के लिए बढ़ा सकती है। इसमें बजट और कुछ अन्य विधेयकों पर चर्चा शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here