PM मोदी का देश के नाम संबोधन, कहा- नए हुनर को सीखने का एक भी मौका नहीं गंवाना चाहिए

0
31

Rajpath Desk : विश्व युवा कौशल दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि नए हुनर को सीखने का एक भी मौका नहीं गंवाना चाहिए। यही हुनर देश को आत्मनिर्भर बनाने में ताकत की तरह सहयोग करेगा। जानकारी हो कि आज से पांच साल पहले प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की शुरुआत की गई थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चार-पांच दिन पहले देश में श्रमिकों की स्किल मैपिंग का एक पोर्टल भी शुरू किया गया है। यह पोर्टल कुशल लोगों व कुशल श्रमिकों की मैपिंग करने में अहम भूमिका निभाएगा। इससे एक क्लिक में ही स्किल्ड मैप वाले वर्कर्स तक एंप्लायर्स पहुंच सकेंगे।

यही समझते हुए अब कौशल विकास मंत्रालय ने दुनिया भर में बन रहे इन अवसरों की मैपिंग शुरू की है। कोशिश यही है कि भारत के युवा को अन्य देशों की जरूरतों के बारे में, उसके संबंध में भी सही और सटीक जानकारी मिल सके।

आगे उन्होंने कहा कि तेजी से बदलती हुई आज की दुनिया में अनेक सेक्टरों में लाखों कुशल (Skilled) लोगों की जरूरत है। विशेषकर स्वास्थ्य सेवाओं में तो बहुत बड़ी संभावनाएं बन रही हैं। इसके लिए देशभर में सैकड़ों प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र खोले गए। आज भारत में नॉलेज और स्किल दोनों में जो अंतर है, उसे समझते हुए ही काम हो रहा है।

मोदी ने कहा कि मेरे युवा साथियों को नमस्कार, आज का ये दिन आपकी skill को, आपके कौशल को समर्पित है। कोरोना के इस संकट ने वर्क कल्चर साथ ही जॉब की प्रकृति को भी बदल दिया, बदलती हुई नित्य नूतन टेक्नोलॉजी ने भी उस पर प्रभाव पैदा किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा जिंदगी में उमंग चाहिए, उत्साह चाहिए, जीने की जिद चाहिए, तो इसमें हुनर  हमारी आकर्षण की ताकत बनती है और हमारे लिए नई प्रेरणा लेकर आती है। छोटी-बड़ी हर तरह की ऐसी ही हुनर आत्मनिर्भर भारत की भी बहुत बड़ी शक्ति बनेगी।

स्किल की ये ताकत जो है, इंसान को कहां से कहां पहुंचा सकती है। साथियों, एक सफल व्यक्ति की बहुत बड़ी निशानी होती है कि वो अपनी स्किल बढ़ाने का कोई भी मौका जाने न दे। स्किल के प्रति अगर आप में आकर्षण नहीं है, कुछ नया सीखने की ललक नहीं है तो जीवन ठहर जाता है। एक रुकावट सी महसूस होती है। एक प्रकार से वो व्यक्ति अपने व्यक्तित्व को, अपने व्यक्तित्व को ही बोझ बना लेता है।

वहीं स्किल के प्रति आकर्षण जीने की ताकत देता है, जीने का उत्साह देता है। यह केवल रोजी-रोटी और पैसा कमाने का जरिया नहीं है। जिंदगी में उमंग चाहिए, उत्साह चाहिए, जीने की जिद चाहिए, तो स्किल हमारी ड्राइविंग फोर्स बनती है, हमारे लिए नई प्रेरणा लेकर आती है।