भुवनेश्वर, 25 जनवरी (आईएएनएस)। ओडिशा मानवाधिकार आयोग (ओएचआरसी) ने गुरुवार को कोरापुट जिले में एक नाबालिग जनजातीय लड़की की आत्महत्या पर 15 दिनों के भीतर राज्य सरकार से रिपोर्ट देने को कहा है। नाबालिग के साथ बीते साल कथित तौर पर सुरक्षा कर्मियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था।
सामाजिक कार्यकर्ता निशिकांत मिश्रा व अखंड की एक याचिका पर कार्रवाई करते हुए ओएचआरसी ने घटना पर चिंता जताते हुए मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को तय समय में रिपोर्ट जमा करने को कहा है।
याचिकाकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि प्रशासन समाज के वंचित तबके की लड़की के जीवन की सुरक्षा करने में विफल रहा है।
याचिकाकर्ताओं ने कहा कि मानवाधिकार आयोग ने पीड़ित की हर तरह से देखभाल करने व काउंसिलिंग संबंधी जो निर्देश दिए थे, उनका पालन अधिकारियों ने नहीं किया।
कोरापुट जिले के सोरिसापडार गांव की एक जनजातीय लड़की से कथित तौर पर सुरक्षा बलों के एक समूह ने बीते साल 10 अक्टूबर को सामूहिक दुष्कर्म किया था। लड़की ने अपने घर में 22 जनवरी को खुद को फांसी लगा लिया।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here