एटलस साइकिल फैक्ट्री बंद होने पर मायावती ने जताई चिंता, सरकार दे ध्यान

0
113

लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने एटलस साइकिल की फैक्ट्री बंद होने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने सरकार से इस पर तुरंत ध्यान देने की मांग भी उठाई है।

मायावती ने ट्विटर पोस्ट में लिखा, ऐसे समय जबकि लॉकडाउन के कारण बंद पड़े उद्योगों को खोलने के लिए आर्थिक पैकेज आदि सरकारी मदद देने की बात की जा रही है, जबकि यूपी के गाजियाबाद स्थित एटलस जैसी प्रमुख साइकिल फैक्ट्री के धन अभाव में बन्द होने की खबर चिंताओं को बढ़ाने वाली है। सरकार तुरन्त ध्यान दे तो बेहतर है।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, यूपी में घर वापसी करने वाले लाखों प्रवासी श्रमिकों में से मात्र 3 प्रतिशत को ही कोरोना पीड़ित पाए जाने की खबर बड़ी राहत देने वाली है खासकर तब जब कोरोना के बढ़ते रोग के लिए इन्हें ही दोषी ठहराने का प्रयास है व इसी आशंका के तहत इन मजलूमों के घर वापसी में देरी की जा रही थी।

ज्ञात हो कि मशहूर साइकिल कंपनी एटलस ने अपना सबसे बड़ा कारखाना बंद कर दिया है। कंपनी ने आर्थिक तंगी का हवाला देते हुए कारखाने को बंद करने की बात कही है। कंपनी का कहना है कि उनके पास अब पैसा नहीं बचा है और कारखाना चलाने में वो असमर्थ हैं।

एटलस साइकिल्स (हरियाणा) लिमिटेड ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के साहिबाबाद में स्थित अपने सबसे बड़े कारखाना पर एक नोटिस चस्पा किया है। कंपनी ने कहा है कि हम कई वषों से भारी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। हमारे सभी फंड खर्च हो गए हैं। अब हमारे पास कोई अन्य आय के स्रोत नहीं बचे हैं। यहां तक दैनिक खचोर्ं के लिए धन नहीं है। जब तक धन का प्रबंध नहीं हो जाता तब तक कच्चा माल भी नहीं खरीदा जा सकता है। कंपनी ने कहा है कि ऐसी स्थिति में हम कंपनी चलाने में असमर्थ हैं।