जम्मू, 14 जून| पाकिस्तान की सेना ने बुधवार को सुबह जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा के दो स्थानों पर बगैर किसी उकसावे के गोलीबारी की। पाकिस्तानी सेना ने बुधवार सुबह पुंछ जिले में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और उसके बाद राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में भी गोलीबारी की।

पाकिस्तान पिछले एक महीने में कई बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है। कहा जा रहा है कि घूसपैठ की कोशिशें बार-बार नाकाम होने की वजह से बौखलाहट में पाकिस्तान सीमा पर गोलीबारी कर रहा है। लेकिन क्या पाकिस्तान की बौखलाहट की एक यहीं वजह है ?

गौरतलब है कि हाल ही में एक टीवी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में कश्मीर के अलगाववादी नेताओं ने कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तानी फंडिंग की बात स्वीकार की थी। NIA की जांच में भी यह बात सामने आई और अलगाववादी नेताओं की संपतियों पर छापे पड़े और उनको गिरफ्तार भी किया गया।

पाकिस्तान कश्मीर में अलगाववादियों को पैसे भेजकर सैनिकों पर पत्थरबाजी करवाता था और हिंसा फैलाता था। NIA द्वारा अलगाववादी नेताओं पर लगाम कसने से पाकिस्तान अपने मंसूबे में फेल हो गया है। दूसरी वजह बार-बार घूसपैठ की कोशिशें नाकाम होने से है।

जाहिर है पाकिस्तान अपनी हर कोशिश को नाकाम होता देख बौखलाहट में है। सीमा पर लगातार गोलीबारी इसी नाकामी की हताशा है।