शिमला| हिमाचल प्रदेश के कई हिस्से रविवार को भयानक शीत लहर की चपेट में हैं, जिसके कारण लोग ठंढ से बुरी तरह परेशान हैं। राजधानी शिमला का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे 1.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि कुफरी के पास न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से 1.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। शिमला में कई दिनों से धूप निकल रही है, फिर भी मौसम की सबसे ठंढ रात रही।
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “राज्य के अधिकांश शहरों में रात का तापमान शून्य के नीचे बना रहा।”
शिमला के पास लोकप्रिय पर्यटन स्थल चैल और नरकंडा भी शीत लहर की चपेट में हैं।
कल्पा और मनाली शहर का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि डलहौजी का 0.8 डिग्री, चंबा का 0.7 डिग्री, धर्मशाला का 5.2 डिग्री और पालमपुर शहर का तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि किन्नौर, लाहौल और स्पीति, कुल्लू और चम्बा जिलों के पूरे आदिवासी इलाके में भयानक ठंढ महसूस की गई और यहां के कुछ स्थानों पर तापमान शून्य से नीचे 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किए गए है।
लाहौल-स्पीति जिले के केलांग शहर का तापमान शून्य से नीचे 12.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मौसम विभाग ने कहा है कि राज्य में लगभग एक और सप्ताह तक शुष्क मौसम बना रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here