विदेशी संकेतों, तिमाही वित्तीय नतीजों से तय होगी शेयर बाजार की चाल

0
89

मुंबई : भारतीय शेयर बाजार की चाल तय करने में इस सप्ताह भी विदेशी संकेतों की अहम भूमिका होगी, हालांकि सप्ताह के दौरान कई प्रमुख घरेलू कंपनियां चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित करेंगी जिससे बाजार को दिशा मिलेगी।

इसके अलावा आगामी आम बजट और एजीआर के मसले को लेकर सप्ताह के दौरान होने वाले घटनाक्रमों पर भी बाजार की नजर होगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार प्रमुख टेलीकॉम कंपनियों को 23 जनवरी तक अपने बकाए का भुगतान करना है।

बीते सप्ताह सकारात्मक विदेशी संकेतों से तेजी का रुख बना रहा। इसी प्रकार आगामी कारोबारी सप्ताह में भारतीय शेयर बाजार की चाल वैश्विक बाजारों से प्रभावित रहेगी, खासतौर से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव और प्रमुख आर्थिक आंकड़ों पर निवेशकों की नजर रहेगी। बाजार की नजर विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश के प्रति रुझान पर भी बनी रहेगी।

सप्ताह के दौरान सोमवार को फेडरल बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र के वित्तीय नतीजे जारी होने की संभावना है। अगले दिन मंगलवार को जी एंटरटेनमेंट, एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट और आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस अपने तीसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे घोषित कर सकते हैं।

वहीं, बुधवार को लार्सन एंड टुब्रो, एशियन पेंट्स, एक्सिस बैंक समेत कई अन्य कंपनियों के तीसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे आने वाले हैं। अल्ट्रा टेक सीमेंट के वित्तीय नतीजे शुक्रवार को आ सकते हैं। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक के वित्तीय नतीजे शनिवार को आने वाले हैं।

उधर, बैंक ऑफ जापान मंगलवार को ब्याज दरों को लेकर अपने फैसले की घोषणा करेगा। अमेरिका में इस सप्ताह यूएस मार्किट मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे। इसी तदन यूरो एरियचा मार्किट मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई और मार्किट सर्विसेज पीएमआई के आंकड़े जारी होंगे। इससे एक दिन पहले गुरुवार को यूरोपीयन सेंट्रल बैंक ब्याज दरों को लेकर अपने फैसले की घोषणा करेगा। इन आंकड़ों से विदेशी बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिलेगा।