लखनऊ| उत्तर प्रदेश के कासगंज जिल में सोमवार को कुछ लोगों ने इलाके में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के उद्देशय से एक धार्मिक स्थान के द्वार में आग लगा दी। पुलिस ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से इलाके में तनाव फैला हुआ है। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि घटना सब्जी मंडी के समीप घटी।
जिलाधिकारी आर.पी. सिंह और पुलिस अधीक्षक पीयूष श्रीवास्तव के नेतृत्व में जिले और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी तुरंत गंजदुंदवारा स्थित मस्जिद पहुंचे और गुस्साए निवासियों को शांत कराया।
जिले में हिंसा की शुरुआत गणतंत्र दिवस के मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा तिरंगा यात्रा निकाले जाने के दौरान हुई। हिंदूवादी छात्रों का समूह जानबूझकर एक मुस्लिम बस्ती में घुस गया था। मुस्लिमों को झगड़े के लिए उकसाए जाने पर हुई हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई थी और कई घायल हुए थे।
एक अधिकारी ने कहा कि इलाके में दुकानों को बंद करवा दिया गया और पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है।
वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि वे हालात का जायजा ले रहे हैं और अभी तक कोई हिंसा नहीं हुई है। हालात पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। जिला प्रशासन मौके पर मौजूद है।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “इलाके में शांति की बहाली हो रही है। इस शरारत के पीछे के लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here