केजरीवाल के विज्ञापन में सिक्किम को लेकर हुआ विवाद, भाजपा ने उठाए सवाल

0
99

नई दिल्ली : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से शनिवार को अखबारों में जारी एक विज्ञापन पर विवाद खड़ा हो गया। सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवकों की भर्ती के लिए जारी इस विज्ञापन में पात्रता की शर्तो में सिक्किम की प्रजा होने की बात पर भाजपा भड़क उठी। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सवाल उठाते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को बताना चाहिए कि दिल्ली सरकार ने सिक्किम को अलग देश के रूप में क्यों दिखाया।

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अपने एक वीडियो संदेश में कहा, आज जैसे ही सुबह अखबार उठाया। दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन पर नजर पड़ी, जिसमें सिक्किम को एक अलग देश दिखा रहे हैं। एक प्रदेश की सरकार ऐसा कैसे कर सकती है। क्या वो इतनी अनाड़ी हो सकती है कि वो एक राज्य को स्वतंत्र देश दिखा दे। इतना बड़ा ऐड जाने से पहले क्या इसे चूक माना जा सकता है। तो समझिए कितनी बड़ी-बड़ी चूक हो रही है। अरविंद केजरीवाल जी जागिए। आपने क्या किया है दिल्ली को बताइए। सवाल बड़ा है, बात बहुत दूर तक जाएगी।

बता दें कि सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती होने के लिए शनिवार को अखबारों में जारी विज्ञापन में केजरीवाल सरकार ने पात्रता की चार शर्ते तय कीं थीं। जिसमें पहली शर्त में कहा गया कि वह भारत का नागरिक हो या भूटान, नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो। भाजपा का कहना है कि सिक्किम की प्रजा का उल्लेख करने से लगता है कि दिल्ली सरकार भारत के इस अभिन्न अंग को अलग देश मान रही है। जिस पर भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित कई नेताओं ने ट्वीट कर केजरीवाल सरकार से जवाब मांगा है।