मंत्रालय में फिर गूंजी जेएनयू कुलपति की बर्खास्तगी की मांग

0
32

नई दिल्ली, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) टीचर्स एसोसिएशन और मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों के बीच सोमवार की शाम एक अहम बैठक हुई, जिसमें कुलपति एम.जगदीश कुमार को तुरंत बर्खास्त करने की मांग मंत्रालय के समक्ष रखी गई।

जेएनयू के प्राध्यापकों ने मंत्रालय से कहा है कि अब कुलपति को बर्खास्त किए बिना विश्वविद्यालय में सामान्य शैक्षणिक गतिविधियां सुचारु रूप से चला चला पाना संभव नहीं रह गया है।

बैठक में जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डी.के. लोबियाल, उनके साथी प्रोफेसर एवं एचआरडी मंत्रालय के संयुक्त सचिव (उच्च शिक्षा) गिरीश होसुर शामिल हुए।

बैठक में मंत्रालय की ओर से जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन को कहा गया कि वे विश्वविद्यालय के हालात को सामान्य बनाने में अपना योगदान दें। इसके अलावा प्राध्यापकों से यह भी अपील की गई कि वे छात्रों से चर्चा करके उन्हें शैक्षणिक कार्यक्रमों की बहाली के लिए राजी करें।

प्राध्यापकों ने कहा कि वे विश्वविद्यालय में हालात जल्द से जल्द सामान्य किए जाने के पक्ष में हैं। सभी प्राध्यापक अपने शैक्षणिक कार्य पर जल्द लौटना चाहते हैं। लेकिन इसके लिए उन्होंने मंत्रालय के समक्ष कुलपति की बर्खास्तगी की शर्त रखी।

प्रो. लोबियाल ने बताया, हमने मंत्रालय के समक्ष जेएनयू कुलपति को हटाने की स्पष्ट मांग रखी है। इस विषय पर मंत्रालय के साथ चर्चा अभी जारी है। अगले एक-दो दिन में एमएचआरडी के सचिव अमित खरे से भी कुलपति की बर्खास्तगी के बावत चर्चा की जाएगी।

इस दौरान जेएनयू के सभी डीन व विशेष शिक्षा केंद्रों के प्रमुखों ने छात्रों एवं अध्यापकों से विश्वविद्यालय के कार्यो में सहयोग की अपील की है। सोमवार शाम जारी इस अपील में कहा गया कि सभी छात्र व प्राध्यापक ऐसी कोई गतिविधि ना करें, जिससे विश्वविद्यालय के कार्यों में कोई रुकावट आए। विश्वविद्यालय की ओर से से जारी इस अपील में प्राध्यापकों से जेएनयू में अनुकूल वातावरण बनाने को कहा गया है।

वहीं सोमवार को ही जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने कुछ प्राध्यापकों के लिए एडवाइजरी भी जारी की, जिसमें उनसे प्रशासन को सहयोग देने की अपील की गई है।