दिल्ली के निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों को नहीं होगी परेशानी, गृह मंत्री ने जारी किया रेट लिस्ट

0
51

Rajpath Desk : देश की राजधानी दिल्ली के लोगों के लिए बड़ी राहत वाली खबर सामने आई है। केंद्र सरकार ने दिल्ली के निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज की दरें घटा दी हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने नीति आयोग के सदस्य के नेतृत्व में एक आयोग का गठन किया था, जिसे दिल्ली के निजी अस्पातलों में आइसोलेशन बेड, बिना वेंटिलेटर सपोर्ट के साथ आईसीयू और वेंटिलेटर सपोर्ट के साथ आईसीयू में कोरोना के इलाज की दर तय करनी थी। गृह मंत्रालय ने कमिटी की सिफारिश मान ली है।

अब निजी अस्पतालों में 8 से 10 हजार रुपये प्रतिदिन में आइसोलेशन बेड मिलेंगे। वहीं 13 से 15 हजार रुपये प्रतिदिन में आईसीयू बिना वेंटीलेटर के मिलेंगे। 15 से 18 हजार रुपये प्रतिदिन पर आईसीयू वेंटीलेटर के साथ मिलेंगे। पीपीई किट की कीमत भी शामिल हैं।

गृह मंत्रालय ने निजी अस्पताल में कोरोना इलाज का रेट तय करने के लिए डॉक्टर वीके पॉल कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी ने आज गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है, जिसमें मौजूदा रेट को दो तिहाई कम करने के लिए कहा गया था। इसके बाद गृह मंत्रालय ने रेट को कम करने का फैसला किया है।

गृह मंत्री अमित शाह द्वारा गठित कमेटी के सुझावों के बाद दिल्ली में कोरोना की जांच की कीमत 2,400 रुपये तय कर दी गई है। गृह मंत्री के फैसले के बाद कोरोना की जांच के लिए 15-16 जून को दिल्ली में 16,618 नमूने एकत्र किए गए।

दिल्ली में कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। अनलॉक 1 के बाद से राज्य में हर रोज रिकॉर्ड नंबर में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। दिल्ली में कोरोना के लगभग 49,979 मरीज हैं।