चंडीगढ़, 9 अगस्त। चंडीगढ़ पुलिस ने एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी की बेटी का पीछा करने के आरोप में बुधवार को हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला को समन जारी किया।
विकास बराला को यहां सेक्टर-26 के पुलिस स्टेशन में हाजिर होने के लिए कहा गया है।
सुभाष बराला के सेक्टर सात में स्थित आधिकारिक आवास के गेट पर बुधवार को समन नोटिस चिपकाया गया।
नोटिस चिपकाने वाले पुलिस अधिकारी ने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि आरोपी नोटिस लेने के लिए मौजूद नहीं है।
हालांकि, बराला परिवार का रिश्तेदार होने का दावा करने वाले कृष्णन ने मीडिया को बताया कि नोटिस स्वीकार कर लिया गया है।
उन्होंने हालांकि, इस बात का खुलासा नहीं किया कि नोटिस किसने स्वीकार किया, चंडीगढ़ पुलिस ने उसे गेट पर क्यों चिपकाया और विकास बराला कहा हैं। उन्होंने यह भी नहीं बताया कि विकास बुधवार को पुलिस के सामने पेश होंगे या नहीं।
इस हाई-प्रोफाइल मामले में चंडीगढ़ पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में है।
पुलिस पर आरोपी विकास बराला और उनके दोस्त को बचाने का आरोप है, जिन्होंने शनिवार को हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव वी.एस. कुंडू की बेटी वर्णिका कुंडू का पीछा किया और धमकाया।
पुलिस ने विकास और उनके दोस्त को युवती का पीछा करने के मामले में गिरफ्तार किया था। घटना के समय दोनों नशे में थे। पुलिस ने कमजोर धाराओं में मामला दर्ज किया, जिससे दोनों कुछ ही घंटे में जमानत पर छूट गए।
पीड़िता ने आरोप लगाया कि दोनों ने उसे डराने-धमकाने और अगवा करने की कोशिश की।
इस मामले के देश भर में सुर्खियों में आने के बावजूद चंडीगढ़ पुलिस को बुधवार तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि आरोपी कहां हैं।
आलोचना के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने सोमवार को कहा था कि वह बिना किसी दबाव के मामले की जांच कर रही है और जरूरत पड़ने पर आरोपी पर अन्य धाराओं के तहत भी मामला दर्ज किया जा सकता है।
सुभाष बराला ने मंगलवार को कहा था कि वर्णिका उनकी बेटी जैसी है और उनके बेटे को बचाने के लिए पुलिस पर उनकी ओर से या भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से कोई दबाव नहीं है।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here