पटना। संविधान बचाओं न्‍याय यात्रा के क्रम में अररिया पहुंचे नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने यहां होने वाले लोकसभा उपचुनाव में प्रत्‍याशी को लेकर बड़ा संकेत दिया है। तेजस्‍वी ने कहा कि आज तस्‍लीमुद्दीन साहब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनके पुत्र हमारे साथ आ गए हैं। भाजपा को हराने के लिए एक मजबूत हैं। वहीं रैली में कहा कि आरएसएस और भाजपा को भगाने की शक्ति मुझे मिले।
तेजस्‍वी ने कहा कि हमें संविधान बचाना है। आरक्षण को बचाना है। आज मोदी सरकार में रोजगार नहीं मिल रहा है। जो रोजगार था, उसे छीन लिया जा रहा है। आरएसएस के कानून को लागू करने की कोशिश की जा रही है। देश बचाने का नारा देने वाले देश को जलाने का काम कर रहे हैं। रेलवे का निजीकरण हो रहा है। तंज करते हुए कहा कि पकौड़े की दुकान के लिए मुद्रा लोन मिलना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष ने आगे कहा कि तस्लीमउद्दीन साहब हमारे बीच में नहीं है। वे मुझे गोद में लेकर खिलाएं है। सरफराज आलम उनके पुत्र है। वे जदयू में घुटन महसूस कर रहे थे। अब मेरे साथ हैं। एक मजबूत हाथ हैं, मुझे भाजपा को हराना है।

सभा को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष चुनावी रस में दिखे। उन्होंने कहा कि आरएसएस और भाजपा को भगाने की मुझे शक्ति मिलें। देश खतरें में है़। देश बचाने की सीख लालू जी पहले ही दे चुके हैं। देश में नफ़रत फैलाने की साजिश रची रही है। लालू जी की पीठ में छूरा भोंका गया है। यह काम भाजपा के साथ मिलकर नीतीश जी, मेरे चाचा जी ने किया है। लालू जी आरएसएस व आडवाणी का रथ रोकने का काम किया था।
तेजस्‍वी ने कहा कि सांप्रदायिक शक्तियों से कभी समझौता नहीं किया। उनका बेटा भी ऐसी शक्तियों से हाथ मिलाने में काम कभी नहीं करेगा। राजस्थान में बंगाल के मुसलमान की हत्या की जाती है। दलित की हत्या की जा रही है। आरक्षण 70 फीसदी होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here